श्रॆणी पुरालेख: डिमेंशिया (मनोभ्रंश) जानकारी

स्ट्रोक (आघात) और डिमेंशिया (मनोभ्रंश) (Stroke and Dementia)

स्ट्रोक (आघात, पक्षाघात, सदमा, stroke) एक गंभीर रोग है. हम कई बार देखते और सुनते हैं कि किसी को स्ट्रोक हुआ है. इस के बाद कुछ लोग फिर से अच्छे हो पाते हैं, पर अन्य लोगों में पूरी तरह शारीरिक और मानसिक क्षमताएं ठीक नहीं हो पातीं. शायद हम यह भी जानते हैं कि करीब 25%[1] केस में स्ट्रोक जानलेवा सिद्ध होता है. पर स्ट्रोक क्या है, किन बातों से इस के होने का खतरा है, इस से कैसे बचें–इन सब पर जानकारी इतनी व्याप्त नहीं है. अधिकाँश लोग यह भी नहीं जानते कि स्ट्रोक होने के कुछ ही महीनों में कुछ व्यक्तियों को स्ट्रोक-सम्बंधित डिमेंशिया (मनोभ्रंश, dementia) भी हो सकता है.

इस पोस्ट में:

फ्रंटो-टेम्पोरल डिमेंशिया (Frontotemporal Dementia, FTD): एक परिचय

फ्रंटो-टेम्पोरल डिमेंशिया (मनोभ्रंश) एक प्रमुख प्रकार का डिमेंशिया है। यह अन्य प्रकार के डिमेंशिया से कई महत्त्वपूर्ण बातों में फर्क है और इस कारण अकसर पहचाना नहीं जाता। देखभाल में भी ज्यादा कठिनाइयाँ होती हैं। इस पृष्ठ पर:

  • फ्रंटो-टेम्पोरल डिमेंशिया क्या है (What is Frontotemporal Dementia) (FTD)
  • फ्रंटो-टेम्पोरल डिमेंशिया के लक्षण (Symptoms of Frontotemporal Dementia)
  • फ्रंटो-टेम्पोरल डिमेंशिया वर्ग में शामिल रोग (Various Medical conditions of Frontotemporal dementia)
  • फ्रंटो-टेम्पोरल डिमेंशिया डिमेंशिया: कुछ महत्वपूर्ण तथ्य (Some important facts about Fronto Temporal Dementia)
  • फ्रंटो-टेम्पोरल डिमेंशिया रोग-निदान और उपचार (Frontotemporal Dementia Diagnosis and Treatment)
  • देखभाल में पेश खास कठिनाइयाँ (Special challenges faced in caregiving)
  • फ्रंटो-टेम्पोरल डिमेंशिया: मुख्य बिंदु (Salient Points about Frontotemporal Dementia)
  • (नोट्स: अधिक जानकारी के लिए लिंक, और चित्रों के लिए श्रेय)

फ्रंटो-टेम्पोरल डिमेंशिया क्या है (What is Frontotemporal Dementia) (FTD)

संवहनी डिमेंशिया (वैस्कुलर डिमेंशिया, Vascular dementia): एक परिचय

संवहनी डिमेंशिया ((वैस्कुलर डिमेंशिया, वैस्कुलर मनोभ्रंश, vascular dementia) डिमेंशिया के चार प्रमुख प्रकारों में से एक है. यह डिमेंशिया के करीब 20 – 30% डिमेंशिया केस के लिए जिम्मेदार है. इस के बारे में जानने से आप इसे ज्यादा आसानी से पहचान पायेंगे, और इस से बचने के लिए अपनी जिंदगी में उचित बदलाव अपना पायेंगे. इस पृष्ठ पर:

  • संवहनी डिमेंशिया (मनोभ्रंश) क्या है (What is Vascular Dementia)
  • स्ट्रोक से संबंधित डिमेंशिया (Stroke-related Dementia)
  • सबकोर्टिकल संवहनी डिमेंशिया (Subcortical Vascular Dementia)
  • संवहनी डिमेंशिया के लक्षण (Symptoms of Vascular Dementia)
  • संवहनी डिमेंशिया में लक्षणों का बढ़ना (Progression of Vascular Dementia Symptoms)
  • संवहनी डिमेंशिया: उपचार (Treatment of Vascular Dementia)
  • संवहनी डिमेंशिया: मुख्य बिंदु (Salient Points of Vascular Dementia)
  • (नोट्स: अधिक जानकारी के लिए लिंक, और चित्रों के लिए श्रेय) (Notes: Links, Credits)

संवहनी डिमेंशिया (मनोभ्रंश) क्या है (What is Vascular Dementia)

संवहनी डिमेंशिया (मनोभ्रंश) एक प्रमुख प्रकार का डिमेंशिया है*1

लुई बॉडी डिमेंशिया (Lewy Body Dementia): एक परिचय

लुई बॉडी डिमेंशिया (मनोभ्रंश) एक प्रमुख प्रकार का डिमेंशिया है जिसके बारे में जानकारी बहुत कम है और जो अकसर पहचाना नहीं जाता। नतीजन, परिवार वाले यह नहीं जान पाते कि आगे क्या क्या होगा, देखभाल की तय्यारी कैसे करें, और किन बातें के प्रति सतर्क रहें। इस पृष्ठ पर:

  • लुई बॉडी डिमेंशिया (मनोभ्रंश) क्या है (What is Lewy Body Dementia)
  • जानकारी की कमी (Information/ awareness about LBD is very low)
  • लुई बॉडी डिमेंशिया के लक्षण (Symptoms of Lewy Body Dementia)
  • रोग निदान संबंधित शब्दावली (Terms used while diagnosing)
  • लुई बॉडी डिमेंशिया: कुछ अन्य तथ्य (Some other facts about Lewy Body Dementia)
  • लुई बॉडी डिमेंशिया और उपचार (Lewy Body Dementia Treatment)
  • लुई बॉडी डिमेंशिया: मुख्य बिंदु (Salient Points about Lewy Body Dementia)
  • (नोट्स: अधिक जानकारी के लिए लिंक, और चित्रों के लिए श्रेय)

लुई बॉडी डिमेंशिया (मनोभ्रंश) क्या है (What is Lewy Body Dementia)

अल्ज़ाइमर रोग (Alzheimer’s Disease, AD) : एक परिचय

अल्जाइमर रोग (Alzheimer’s Disease, AD) सबसे ज्यादा पाया जाने वाला डिमेंशिया है (50-75%)। इस पर जानकारी अन्य डिमेंशिया रोगों से ज्यादा आसानी से मिलती है। इस पृष्ठ पर प्रस्तुत है इस एक सरल परिचय और कुछ उपयोगी चित्र, और हिंदी साइट और वीडियो के लिंक भी:

  • अल्ज़ाइमर रोग क्या है (What is Alzheimer’s Disease)
  • अल्ज़ाइमर रोग के लक्षण (Symptoms of Alzheimer’s Disease)
  • समय के साथ अल्ज़ाइमर रोग का बढ़ना (Progression of Alzheimer’s Disease)
  • अल्ज़ाइमर रोग: कुछ अन्य तथ्य (Some other facts about Alzheimer’s Disease)
  • अल्ज़ाइमर रोग-निदान और उपचार (Diagnosis and Treatment of Alzheimer’s Disease)
  • उपलब्ध जानकारी और सपोर्ट पर कुछ कमेन्ट (Available information and resources: some comments)
  • अल्ज़ाइमर रोग: मुख्य बिंदु (Salient Points of Alzheimer’s Disease)
  • (नोट्स: अधिक जानकारी के लिए लिंक और श्रेय) (Notes: Links and Credits)

(डिमेंशिया के अन्य तीन मुख्य प्रकारों पर प्रकाशित पोस्ट यहाँ देखें: संवहनी डिमेंशिया (वैस्कुलर डिमेंशिया, Vascular dementia), लुई बॉडी डिमेंशिया …

पूरे पोस्ट के लिए यहाँ क्लिक करें : अल्ज़ाइमर रोग (Alzheimer’s Disease, AD) : एक परिचय

भारत में डिमेंशिया की स्थिति: 2015 (चित्रण) (Dementia in India: An overview in Hindi)

इस पृष्ठ पर भारत में डिमेंशिया की स्थिति को चित्रों द्वारा प्रस्तुत करा गया है. चित्र के चार भाग हैं: :

  • वर्तमान स्थिति (Current status)
  • भारत में डिमेंशिया देखभाल की चुनौतियाँ (Challenges in dementia care)
  • भविष्य के लिए अनुमान (Future estimates)>.
  • डिमेंशिया वाले परिवारों के लिए क्या करा जा सकता है (What we can do to help families with dementia)

पूरे पोस्ट के लिए यहाँ क्लिक करें : भारत में डिमेंशिया की स्थिति: 2015 (चित्रण) (Dementia in India: An overview in Hindi)

ऑनलाइन देखें: वीडियो और प्रेसेंटेशन (Videos and presentations)

कुछ हिंदी में बनाए गए डिमेंशिया/ देखभाल संबंधी वीडियो जो ऑनलाइन उपलब्ध हैं. …

पूरे पोस्ट के लिए यहाँ क्लिक करें : ऑनलाइन देखें: वीडियो और प्रेसेंटेशन (Videos and presentations)

डिमेंशिया/ अल्ज़ाइमर देखभाल पर हिंदी वेबसाइट (Informational Hindi websites on dementia / caregiving)

डिमेंशिया/ देखभाल जानकारी वाले वेबसाइट. अल्जाइमर (Alzheimer’s Disease) की राष्ट्रीय या प्रांतीय संस्थाएं. अन्य डिमेंशिया रोगों की राष्ट्रीय/ अंतर-राष्ट्रीय संस्थाएं. फोरम. कई साईट में केयरगिवर मैनुअल डाउनलोड के लिए उपलब्ध. …

पूरे पोस्ट के लिए यहाँ क्लिक करें : डिमेंशिया/ अल्ज़ाइमर देखभाल पर हिंदी वेबसाइट (Informational Hindi websites on dementia / caregiving)

डिमेंशिया का व्यक्ति के व्यवहार पर असर (How dementia impacts behaviour)

शुरू की अवस्था में डिमेंशिया (मनोभ्रंश) से ग्रस्त व्यक्ति इतने सामान्य नज़र आते हैं कि आस-पास के लोग अकसर भूल ही जाते हैं कि इस व्यक्ति को कोई ऐसी बीमारी है जिसके कारण इसके मस्तिष्क को हानि पंहुच चुकी है, और यह हानि बढ़ रही है. निदान को जानने के बावजूद, व्यक्ति के परिवार वाले और अन्य लोग व्यक्ति के अप्रत्याशित व्यवहार या काम में हो रही दिक्कतों को देख कर यह नहीं सोचते कि यह शायद यह सब रोग के कारण हैं. उल्टा लोग सोचते हैं कि यह व्यक्ति ज़िद्द कर रहा है, या पूरी तरह कोशिश नहीं कर रहा, या व्यक्ति उनसे नाराज़ है या उन्हें दुःख पंहुचाना चाहता है. इसलिए परिवार वाले चिड़चिड़ा जाते हैं या मायूस हो जाते हैं, और उनकी भावनाओं को देख, डिमेंशिया से ग्रस्त व्यक्ति अधिक परेशान हो जाते हैं. अगर घर-बाहर के माहौल से व्यक्ति को अपने काम करने में दिक्कत हो रही हो, तो उससे भी व्यवहार में फ़र्क पड़ सकता है.

डिमेंशिया से ग्रस्त व्यक्ति कभी कभी अजीब तरह से क्यों पेश आते हैं, देखभाल करने वाले यह समझ सकें, इसके लिए इस पृष्ठ पर कुछ तथ्य दिए गए हैं. इस पृष्ठ का उद्देश्य आपको बस अंदाजा देना है. यहाँ कोई पूरी सूची नहीं है, न ही किसी व्यक्ति की हर समस्या को समझने का तरीका है. व्यक्ति पर उसके रोग के कारण क्या बीत रही है, और व्यक्ति अजीब व्यवहार क्यों दिखा रहा है, यह तो उसको समीप के परिवार वाले ही अंदाजा लगा सकते है. ऐसे भी कई संसाधन और समुदाय हैं (support groups) जहाँ व्यक्ति का व्यवहार रोग के कारण किस किस प्रकार से बदल सकता है, इस विषय पर चर्चा होती है. आप इनसे और अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

  • डिमेंशिया में मस्तिष्क में हानि होती है.
  • डिमेंशिया का काम करने की काबिलीयत पर असर.
  • डिमेंशिया का व्यक्ति की भावनाओं पर असर.
  • घर-बाहर का वातावरण, अन्य लोगों के साथ मिलना जुलना, और उनकी उम्मीदें, इन सब का भी व्यक्ति के व्यवहार पर असर पड़ता है.
  • व्यक्ति डिमेंशिया में क्या अनुभव करते हैं: कुछ आपबीती
  • देखभाल करने वाले क्या याद रखें.
  • बदले व्यवहार संबंधी शब्दावली.
  • इन्हें भी देखें…

पूरे पोस्ट के लिए यहाँ क्लिक करें : डिमेंशिया का व्यक्ति के व्यवहार पर असर (How dementia impacts behaviour)

डिमेंशिया के चरण: प्रारंभिक, मध्यम, अग्रिम/ अंतिम (Stages of dementia)

अफ़सोस, अधिकांश प्रकार के डिमेंशिया (मनोभ्रंश) ऐसे रोगों के कारण होते हैं जिन में मस्तिष्क की हानि को ठीक नहीं किया जा सकता (irreversible) और डिमेंशिया से ग्रस्त व्यक्ति की हालत समय के साथ बिगड़ती जाती है (progressive).

जैसे जैसे डिमेंशिया बढता है, मस्तिष्क में हानि बढ़ती जाती है. लक्षण अधिक गंभीर होने लगते हैं, और नए लक्षण भी नज़र आने लगते हैं. व्यक्ति को अपने साधारण रोज के कामों में ज्यादा दिक्कत होने लगती है, जैसे कि खुद नहाना, खाना बनाना और खाना, बैंक का काम करना, खरीदारी करना, सही दवाई समय पर नियमित रूप से लेना, वगैरह. रोग के कारण उनकी निर्भरता बढ़ने लगती है, और परिवार वालों को उनकी सहायता करने होती है. व्यक्ति का व्यवहार भी बदल सकता है, और व्यक्तित्व फ़र्क लगने लगता है. कुछ व्यक्ति उत्तेजित या आक्रामक होने लगते हैं, कुछ उदास या कटे कटे, कुछ गाली देना और अश्लील हरकत करना भी शुरू कर सकते हैं. कई व्यक्ति भूलने लगते हैं और यह नहीं जान पाते कि वे कहाँ हैं, कौन सा साल या महीना चल रहा है. लोगों को पहचानना भी कम हो सकता है. चलने में, संतुलन रखने में, शरीर के भागों के तालमेल में भी गिरावट हो सकती है. स्थिति बिगड़ती रहती है और अंत में व्यक्ति पूरी तरह लाचार हो, बिस्तर पर पड़ सकते हैं, और बातचीत भी बंद हो सकती है.

परिवार वालों को व्यक्ति की अवस्था के अनुसार उसकी सहायता करनी होती है, और यह भी समझना होता है कि समय के साथ व्यक्ति की हालत कैसे बिगड़ेगी और सहायता कैसे करनी होगी, ताकि वे उस प्रकार की देखभाल करने के लिए तैयार हों, और अगर उन्हें समय या पैसे का प्रबंध करना हो, तो वे उसके लिए भी तैयार हो पायें.

डिमेंशिया के चरण क्या हैं, इसके लिए कोई अधिकृत परिभाषा उपलब्ध नहीं है, चूंकि डिमेंशिया अनेक रोगों के कारण हो सकता है, और हर व्यक्ति की हालत अलग अलग तरह से बदतर होती है, और बिगड़ने की गति भी हर व्यक्ति के लिए अलग होती है. स्पष्ट रूप से सिर्फ इतना कह सकते हैं कि डिमेंशिया के कारण व्यक्ति की हालत बिगड़ेगी और जीवन-काल कम होगा. पर देखभाल करने वालों को कुछ तो अंदाज़ा चाहिए कि आगे क्या क्या हो सकता है, ताकि वे देखभाल करने के लिए तय्यारी कर सकें. वे भावनात्मक रूप से भी डिमेंशिया के बिगड़ने के लिए तैयार हो सकते हैं.

पूरे पोस्ट के लिए यहाँ क्लिक करें : डिमेंशिया के चरण: प्रारंभिक, मध्यम, अग्रिम/ अंतिम (Stages of dementia)