श्रॆणी पुरालेख: COVID

डिमेंशिया देखभाल और कोविड-19 (COVID-19) (भाग 4) : कारगर देखभाल और तनाव मुक्ति के लिए अन्य सुझाव, सहायता के लिए संसाधन, इत्यादि

डिमेंशिया देखभाल और COVID 19 पर इस सीरीज में अब तक हमने इन विषयों पर बात करी है: वायरस से डिमेंशिया वाले व्यक्ति को कैसे बचाएं, और देखभाल के तरीकों में किस तरह के बदलाव की जरूरत हो सकती है, a href=”https://dementiahindi.com/dementia-care-covid-medical-tests-telemedicine-hospital”>दवा खरीदना, टेस्ट करवाना, टेलीमेडिसिन से सलाह लेना, अस्पताल जाना। सीरीज की इस आख़िरी पोस्ट में देखें कारगर व्यवस्था बनाने के लिए कुछ अन्य सुझाव। तनाव बढ़े नहीं इस के लिए स्व-देखभाल (आत्म-देखभाल, सेल्फ-केयर) बहुत जरूरी है, और इस के लिए भी कुछ सुझाव हैं। और देखभाल करने के लिए किस तरह के संसाधन हैं, उन्हें कैसे ढूँढें, इस विषय पर भी सामग्री है।

इस पृष्ठ पर:

डिमेंशिया देखभाल और कोविड-19 (COVID-19) (भाग 3): दवा खरीदना, टेस्ट करवाना, टेलीमेडिसिन से सलाह लेना, अस्पताल जाना

COVID सम्बंधित पोस्ट की इस सीरीज में अब तक हम देख चुके हैं कि वायरस से डिमेंशिया वाले व्यक्ति को कैसे बचाएं और उनकी देखभाल के तरीकों में किस तरह के बदलाव की जरूरत हो सकती है।

देखभाल करने वालों की चिंता और चुनौती का एक बड़ा हिस्सा चिकित्सा पहलुओं से संबंधित है। जैसे, जरूरत पड़ने पर चिकित्सीय सहायता कैसे प्राप्त करी जाय, बाधाओं / प्रतिबंधों के कारण नए नियमों के अंतर्गत मदद कैसे प्राप्त करें (जैसे ई-पास लेना, परिवहन की व्यवस्था करना, आपात स्थिति में तुरंत सहायता पाना)। इसके अलावा, सब लोगों में आजकल अस्पताल का डर है – कहीं वहां जा कर वहां से बीमार न पड़ जाएँ! इसलिए देखभाल कर्ताओं के लिए एक चुनौती यह है कि वे किसी भी स्वास्थ्य संबंधी स्थिति को ठीक से समझें। उन्हें सोचना है कि सलाह और चिकित्सा कैसे पायें, और यदि अस्पताल जाना हो, तो अस्पताल से COVID 19 …

पूरे पोस्ट के लिए यहाँ क्लिक करें : डिमेंशिया देखभाल और कोविड-19 (COVID-19) (भाग 3): दवा खरीदना, टेस्ट करवाना, टेलीमेडिसिन से सलाह लेना, अस्पताल जाना

डिमेंशिया देखभाल और कोविड-19 (COVID-19) (भाग-2) : देखभाल कैसे एडजस्ट करें

COVID 19 महामारी से उत्पन्न स्थिति में डिमेंशिया से ग्रस्त व्यक्ति को इस वायरस से बचाना परिवार वालों के कार्यों का सिर्फ एक पहलू है (इस के लिए भाग 1 देखें)। व्यक्ति को देखभाल की जरूरत होती है, जैसे कि दैनिक कार्यों में सहायता देना, और उनको स्वस्थ और सक्षम रखने के लिए कदम उठाना, जैसे कि गतिविधियों का कारगर इस्तेमाल। पर COVID 19 महामारी और सम्बंधित प्रतिबन्ध के कारण देखभाल में कुछ बदलाव की जरूरत है।

व्यक्ति की देखभाल सुचारू रूप से चलती रहे, इस के लिए अकसर परिवार वाले अपनी स्थिति के अनुसार एक व्यवस्था का इस्तेमाल करते हैं, पर COVID-19 महामारी के कारण यह पुराना दिनचर्या अस्त-व्यस्त हो गया होगा। एक तरफ व्यक्ति को COVID 19 से बचाने के लिए कई बदलाव जरूरी हैं, और ऊपर से प्रतिबंधों के कारण घर के सभी लोगों के आने-जाने और काम करने के तरीके बदल गए हैं। और …

पूरे पोस्ट के लिए यहाँ क्लिक करें : डिमेंशिया देखभाल और कोविड-19 (COVID-19) (भाग-2) : देखभाल कैसे एडजस्ट करें

डिमेंशिया देखभाल और कोविड-19 (COVID-19) (भाग 1): व्यक्ति को वायरस से बचाएं

COVID 19 (कोविड-19, नोवल कोरोनावायरस) एक नया संक्रमण (इनफ़ेक्शन) है जो महामारी का रूप ले चुका है – विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इसे “पैनडेमिक” (Pamdemic, वैश्विक महामारी) के रूप में पहचाना है। भारत में भी COVID 19 के फैलाव को सीमित करने के लिए और संक्रमित लोगों को इलाज दे पाने के लिए बहुत से कदम उठाए गए हैं। इनमें शामिल हैं स्वास्थ्य संसाधनों का क्षमता निर्माण, COVID-19 के रोगियों को जल्द पहचान पाना और अलग रखकर उनका इलाज करना। इस से बचाव के लिए उचित आदतें अपनानी होंगी, जैसे मास्क पहनना और एक दूसरे से दूरी रखना। गतिविधियों और आवागमन पर प्रतिबंध भी लागू करे गए हैं। इन सब से लोगों के दैनिक जीवन में अनेक बदलाव हुए हैं और चुनौतियाँ भी पैदा हो रही हैं। लोगों को जानकारी और सुझावों की जरूरत है।

COVID 19 (नोवल कोरोनावायरस) एक नया वायरस है जिसके बारे में पर …

पूरे पोस्ट के लिए यहाँ क्लिक करें : डिमेंशिया देखभाल और कोविड-19 (COVID-19) (भाग 1): व्यक्ति को वायरस से बचाएं